Friday, February 19, 2010

मीडिया में कन्फ्यूजन..........


जब मीडिया के किसी भी कोर्स में जब कोई जाता है तो उसे अक्सर पहले तो पता ही नही होता की इसमें कितनी - कितनी लाइने है और कौन सी चुनी जाये | मन में आता है की यह भी कर ले वो भी कर ले ना जाने कितने लोगो से सलाह मशवरा करते है | हर किसी बड़े से बार- बार पूछते है की क्या करे अपनी शुरुआत कहाँ से करे | पत्रकारिता की लाइन चुनी है तो हर किसी को यही कहा जाता है की अपनी शुरुआत प्रिंट मीडिया या इलेक्ट्रोनिक मीडिया से करे | हर किसी की अपनी - अपनी सलाह होती है और दिमाग में उतनी ही कन्फ्यूजन ज्यादा बढ जाती है | जब मीडिया की लाइन में हम कदम रखते है तो 10 प्रतिशत लोगो को इतना भी नही पता होता की इसमें होता क्या है | वो तो बस दुनिया में अपना नाम बनाने के लिए और टेलीविजन में आने के लिए इस लाइन को चुनता है और यह आने पर उसे कुछ और ही पता चलता है वो अपना कोर्स तो खत्म कर लेता है पर अभी -भी कुछ लोगो को यह पता नही होता की आगे क्या करना है |

No comments:

Post a Comment